AJAY AMITABH Suivre

Advocate, Author and Poet Delhi, India.
12 FOLLOWERS
2 SUIVANT
50.0mille Mots
REJOINT Jan 10, 2021

Mes histoires

दुर्योधन कब मिट पाया

जब सत्ता का नशा किसी व्यक्ति छा जाता है तब उसे ऐसा लगने लगता है कि वो सौरमंडल के सूर्य की तरह पूरे विश्व का केंद्र है और पूरी दुनिया उसी के चारो ओर ठीक वैसे हीं चक्कर लगा रही है जैसे कि सौर मंडल के ग्रह जैसे कि पृथ्वी, मांगल, शुक्र, शनि इत्यादि सूर्य का चक्कर लग…
12.2mille vues Nouveau chapitre Tous les 10 jours

दूसरी सुर्पनखा:राक्षसी अधोमुखी

Histoire non vérifiée लक्ष्मण जी द्वारा राक्षसी सुर्पनखा के नाक और कान काटने की घटना सर्वविदित है। वाल्मिकी रामायण में एक और राक्षसी का वर्णन किया गया है जिसके नाक और कान लक्ष्मण जी ने सुर्पनखा की तरह हीं काटे थे। परंतु दोनों घटनाओं में काफी कुछ समानताएं होते हुए भी काफी कुछ असमानत…
121 vues Histoire terminée

चेतना के अंकुर

मेरे जीवन में बहुत सारी ऐसी घटनाएँ घटती है जो मेरे ह्रदय को आंतरिक रूप से उद्वेलित करती है। मै बहिर्मुखी स्वाभाव का हूँ और ज्यादातर मौकों पर अपने भावों का संप्रेषण कर हीं देता हूँ। फिर भी बहुत सारे मुद्दे या मौके ऐसे होते है जहाँ का भावो का संप्रेषण नहीं हो…
9.1mille vues Nouveau chapitre Tous les 15 jours

एकलव्य:महाभारत का महाउपेक्षित महायोद्धा

Histoire non vérifiée #एकलव्य #महाभारत #श्रीकृष्ण #कर्ण #जरासंध #शिशुपाल #परशुराम #भीष्मपितामह #द्रोणाचार्य #अर्जुन #पौराणिक एकलव्य :महाभारत का महाउपेक्षित महायोद्धा महाभारत में अर्जुन , भीम , भीष्म पितामह , गुरु द्रोणाचार्य , कर्ण , जरासंध , शिशुपाल अश्वत्थामा आदि पराक्रमी योद्धाओं के …
372 vues Histoire terminée

रावण,परशुराम और सीता स्वयंवर

Histoire non vérifiée सीताजी की स्वयंवर में अनगिनत राजाओं , महाराजाओ की उपस्थिती के बारे में अनगिनत कहानियाँ प्रचलित है । ऐसा माना जाता है , शिवजी का भक्त होते के नाते रावण भी सीताजी की स्वयंवर में आया था। ये बात भी प्रचलित है कि शिवजी के धनुष के टूटने के बाद भगवान श्री परशु…
522 vues Histoire terminée

Fear From Freedom

Histoire non vérifiée Look, my brother, the peacock further said, man does not want to live in freedom but in a chain made by himself. You imitated man, man drew a cage line for you too.
612 vues Histoire terminée

चंद्रगुप्त की जुबानी , भगवान श्रीकृष्ण की कहानी

Histoire non vérifiée जिस प्रकार भारतीय धर्मग्रंथों को ऐतिहासिक रूप से प्रमाणिक नहीं माना जाता रहा है ठीक उसी प्रकार इन धर्मग्रंथों में दिखाए गए महान व्यक्तित्व भी। इसका कुल कारण ये है कि इन धर्मग्रंथों को कभी भी पश्चिमी इतिहासकारों के तर्ज पर समय के सापेक्ष तथ्यात्मक रूप से प्रस्तुत नही…
581 vues Histoire terminée

सच्चाई लक्ष्मण रेखा की

Histoire non vérifiée आम बोल चाल की भाषा में जब वाद विवाद के दौरान कोई अपनी मर्यादा को लांघने लगता है, अपनी हदें पार करने लगता है तब प्रायः उसे लक्ष्मण रेखा नहीं पार करने की चेतावनी दी जाती है। आखिर ये लक्ष्मण रेखा है क्या जिसके बारे में बार बार चर्चा की जाती है? आम बोल चाल की…
606 vues Histoire terminée

वर्तमान से वक्त बचा लो [भाग6]

Histoire non vérifiée एक व्यक्ति का व्यक्तित्व उस व्यक्ति की सोच पर हीं निर्भर करता है। लेकिन केवल अच्छा विचार का होना हीं काफी नहीं है। अगर मानव कर्म न करे और केवल अच्छा सोचता हीं रह जाए तो क्या फायदा। बिना कर्म के मात्र अच्छे विचार रखने का क्या औचित्य? प्रमाद और आलस्य एक पुरुष के लिए सबस…
808 vues Histoire terminée

डर आजादी का

Histoire non vérifiée मन मसोसते हुए मोर बाग में लौट गया। मोर को हंसी आ रही थी। उसको साफ साफ दिखाई पड़ रहा था कि इतने दिनों तक आदमी के साथ रहने के कारण शायद मैना को भी आदमी वाला रोग लग गया है। आदमी की नकल करते करते शायद मैना की अकल भी आदमी के जैसे हीं हो गई थी। आदमी ना तो…
843 vues Histoire terminée

अंधे का बेटा अंधा

Histoire non vérifiée महाभारत की कहानी पर आधारित अनगिनत टेलीविज़न सीरियल और फ़िल्में अनगिनत भाषाओँ में बनाई गई हैं और इन सारी कहानियों में द्रौपदी द्वारा दुर्योधन के मजाक उड़ाए जाने को दिखाया गया है। लेकिन क्या वास्तव में उनका दावा वास्तव में महाभारत ग्रन्थ में लिखी गई तथ्यों पर आध…
847 vues Histoire terminée

वर्तमान से वक्त बचा लो [पंचम भाग ]

Histoire non vérifiée विवाद अक्सर वहीं होता है, जहां ज्ञान नहीं अपितु अज्ञान का वास होता है। जहाँ ज्ञान की प्रत्यक्ष अनुभूति होती है, वहाँ वाद, विवाद या प्रतिवाद क्या स्थान ? आदमी के हाथों में वर्तमान समय के अलावा कुछ भी नहीं होता। बेहतर तो ये है कि इस अनमोल पूंजी को वाद, प्रति…
964 vues Histoire terminée

चार्वाक महाभारत का

Histoire non vérifiée महाभारत युद्ध के समाप्ति के उपरांत जब युद्धिष्ठिर का राज्यारोहण होने वाला होता है तब एक चार्वाक का जिक्र आता है जो दुर्योधन का मित्र होता है। उसे चार्वाक राक्षस के रूप में भी संबोधित किया जाता है। क्या कारण है कि दुर्योधन का एक मित्र जो कि नस्तिकतावादी दर्शन का अन…
1.0mille vues Histoire terminée

मान गए भई पलटूराम

Histoire non vérifiée इस सृष्टि में बदलाहटपन स्वाभाविक है। लेकिन इस बदलाहटपन में भी एक नियमितता है। एक नियत समय पर हीं दिन आता है, रात होती है। एक नियत समय पर हीं मौसम बदलते हैं। क्या हो अगर दिन रात में बदलने लगे? समुद्र सारे नियमों को ताक पर रखकर धरती पर उमड़ने को उतारू हो ज…
1.2mille vues Histoire terminée

तुझे शर्म नहीं आती?

भुट्टे वाले ने कहा , भाई साहब किसी को धोखा दिया नहीं , झूठ बोला नहीं और मेरे उपर लोन भी नहीं है , फिर काहे का शर्म ? मेहनत और ईमानदारी से हीं तो कमा रहा हूँ , कोई गलत काम तो नहीं कर रहा । लोगो को चुना तो नहीं लगा रहा ? ऑफिस में काम करते वक्त उसकी बाते…
2.6mille vues Histoire terminée

वज्र तन दुर्योधन

जब भीम दुर्योधन को किसी भी प्रकार हरा नहीं पा रहे थे तब भगवान श्रीकृष्ण द्वारा निर्देशित किए जाने पर युद्ध की मर्यादा का उल्लंघन करते हुए छल द्वारा भीम ने दुर्योधन की जांघ पर प्रहार किया जिस कारण दुर्योधन घायल हो गिर पड़ा और अंततोगत्वा उसकी मृत्यु हो गई। प्रश्न ये उ…
2.5mille vues Histoire terminée

Story Garden

These are collections of small stories written by me.
5.0mille vues 3 Nouveau chapitre Tous les 15 jours

What you are ashamed of

Histoire non vérifiée The answer he gave made me restless. It is like that every man sitting in a high position in the office does not lie, does not cheat or does not act dishonestly? And if he does, why isn't he ashamed?
7.1mille vues Histoire terminée

भय कर्ण का भीम से

इस बात में कोई संशय नहीं कि महारथी कर्ण एक महान योद्धा थे और एक बार उन्होंने महाभारत युद्ध के दौरान भीमसेन को एक बार हराया भी था. परन्तु महाभारत युद्ध के दौरान एक ऐसा भी पल आया था , जब महारथी कर्ण में मन में भीमसेन का पराक्रम देख कर भय समा गया था . महाभारत …
2.6mille vues Histoire terminée

पहली मुलाकात:कर्ण की दुर्योधन से

ये बात तो तय है कि दुर्योधन की पहली मुलाकात कर्ण से उस युद्ध कीड़ा के मैंदान में नहीं बल्कि काफी पहले हीं हो गई थी। बचपन से दोनों एक दुसरे के परिचित थे और साथ साथ हीं द्रोणाचार्य से शिक्षा भी ग्रहण कर रहे थे
2.5mille vues Histoire terminée
Histoire de blog

मेरे गाँव में शामिल हुआ है थोड़ा सा शहर

इस सृष्टि में कोई भी वस्तु बिना कीमत के नहीं आती, विकास भी नहीं। अभी कुछ दिन पहले एक पारिवारिक उत्सव में शरीक होने के लिए गाँव गया था। सोचा था शहर की दौड़ धूप वाली जिंदगी से दूर एक शांति भरे माहौल में जा रहा हूँ। सोचा था गाँव के खेतों में हरियाली के दर्…
1.8mille vues Nouveau chapitre Toutes les semaines

ओहदा

ओहदा और बुद्धिमता के बीच की लकीर काफी पतली और क्षीण होती है । मात्र ओहदे से इज्जत नहीं मिलती, सम्मान नही मिलता, बुद्धिमता हासिल नहीं होती, इसे सतत अभ्यास और परिश्रम करके अर्जित करना पड़ता है।
1.3mille vues Histoire terminée

गलत कौन

सवाल ये नहीं है कि गौतम बुद्ध के द्वारा सुझाये गए सत्य और अहिंसा के सिद्धांत सही है या गलत। सवाल ये है कि क्या आप उनको पालन करने के लिए सक्षम है या नहीं?
808 vues Histoire terminée

हौले कविता मैं गढ़ता हूँ

#आत्म_कथ्य #Mind #Confession #2linesonly #2liners #Spiritual #Micro_poetry
557 vues Nouveau chapitre Tous les dimanches

कह भी दो

मानव स्वभाव पर प्रकाश डालती एक मनोवैज्ञानिक कहानी।
533 vues Histoire terminée

Sparks of Consciousness

These are collections of poems written by me especially which touches the spirituality, Philosophy, Nature, Human understanding, Religion, Politics as also humour.
3.4mille vues 1 2 Nouveau chapitre Tous les 10 jours

THE REBEL

On this Republic Day, let the Indian be reminded of an Indian young man who, despite the fact that he was about to be executed in a matter of hours, was preoccupied with finishing a chapter of a book he adored.
1.1mille vues 1 Histoire terminée

एक दफ्तर का धार्मिक भेड़िया

दफ्तर का जीवन किसी जंगल से कम नहीं । जैसे जंगल में जीने के लिए चालाकी और चपलता जरुरी है , ठीक वैसे हीं दफ्तर में एक कर्मचारी को मजबूत बनना पड़ता है  । दफ्तर  के कायदे कानून एक हिरण को भी भेड़िया बनने को बाध्य कर देते हैं  । लेकिन एक भेड़िया होकर भी कोई धर्मि…
1.7mille vues Histoire terminée

मर्ज एक औरत का

जब मर्ज झूठा हो तो उसका इलाज सच्चा कैसे हो सकता है? मानव मस्तिष्क के मनोविज्ञान पर प्रकाश डालती हुई कहानी।
1.5mille vues Histoire terminée

एक मेटल की जीवनी

ये कहानी मेरे और मेरे बेटे आप्तकाम के वार्ता पर आधारित है जहाँ पर मैंने अपने बेटे को जग्गी वासुदेव के आत्म साक्षात्कार के  अनुभूति को समझाने का प्रयास किया था।
1.8mille vues Histoire terminée

वो सिगरेट पीती लड़की

धूम्रपान करने वाली लड़कियों और स्त्रियों को प्रशंसा की नजर से देखने को नही कहता। परंतु इन्हें हिक़ारत की नजर से देखना कहाँ तक उचित है?
1.8mille vues Histoire terminée

Mes microfictions

Il n’y a pas encore de microfictions de cet utilisateur.

Offres de services

Cet utilisateur n’offre pas encore de service.

Derniers messages et annonces

Il n’y a aucune actualité de cet utilisateur.

Listes de lecture

Dernière activité publique

Communautés qui ont rejoint

Écrire des concours où je participe

Cet utilisateur ne participe à aucun concours d’écriture pour le moment. Cochez tous les concours d’écriture disponibles.