तुझे शर्म नहीं आती?

भुट्टे वाले ने कहा , भाई साहब किसी को धोखा दिया नहीं , झूठ बोला नहीं और मेरे उपर लोन भी नहीं है , फिर काहे का शर्म ? मेहनत और ईमानदारी से हीं तो कमा रहा हूँ , कोई गलत काम तो नहीं कर रहा । लोगो को चुना तो नहीं लगा रहा ? ऑफिस में काम करते वक्त उसकी बातें यदा कदा मुझे सोचने पर मजबूर कर हीं देती हैं , किसी को धोखा दिया नहीं , झूठ बोला नहीं और मेरे उपर ल…
Short tale 3.2k views Story completed

वज्र तन दुर्योधन

जब भीम दुर्योधन को किसी भी प्रकार हरा नहीं पा रहे थे तब भगवान श्रीकृष्ण द्वारा निर्देशित किए जाने पर युद्ध की मर्यादा का उल्लंघन करते हुए छल द्वारा भीम ने दुर्योधन की जांघ पर प्रहार किया जिस कारण दुर्योधन घायल हो गिर पड़ा और अंततोगत्वा उसकी मृत्यु हो गई। प्रश्न ये उठता है कि आम मानव का शरीर तो वज्र का बना नहीं होता , फिर दुर्योधन का शरीर वज्र का कैसे बन गया था? उसका…
Short tale 3.0k views Story completed

भय कर्ण का भीम से

इस बात में कोई संशय नहीं कि महारथी कर्ण एक महान योद्धा थे और एक बार उन्होंने महाभारत युद्ध के दौरान भीमसेन को एक बार हराया भी था. परन्तु महाभारत युद्ध के दौरान एक ऐसा भी पल आया था , जब महारथी कर्ण में मन में भीमसेन का पराक्रम देख कर भय समा गया था . महाभारत महाग्रंथ के कर्ण पर्व के चतुरशीतितमोध्याय अर्थात अध्याय संख्या 84 के श्लोक संख्या 1 से श्लोक संख्या 14 में इस …
Short tale 2.9k views Story completed

Fake Friends (Hindi Version)

ये कहाणी बहुत सारे छोटे हिस्सो में है...यह एक मात्र चरित्र के बारे में है जो हर भावनात्मक उथल-पुथल में एकल भुमिका निभाता हैं |
14 CHAPTERS 11.1k views 1 2 New chapter Every 2 days

पैसे की किल्ल्त और कोरोना..

खली समय की खुराफाती
Short tale 1.9k views In progress

Anokhi Duniya

This story is for kids. Its a fiction.
Short tale 2.9k views In progress

जंगल में सभा

बहुत समय से भारत के, जानवरों से भरे एक जंगल में, जानवरों की सभा नहीं हुई थी। बुजुर्ग जानवर चिंतित थे कि नयी पीढ़ियाँ अपने गौरवशाली इतिहास को भूलती जा रहीं थी। उन्होने एक सभा करने का निर्णय लिया।
Short tale 3.6k views 1 Story completed

कह भी दो

मानव स्वभाव पर प्रकाश डालती एक मनोवैज्ञानिक कहानी।
Short tale 783 views Story completed

एक दफ्तर का धार्मिक भेड़िया

दफ्तर का जीवन किसी जंगल से कम नहीं । जैसे जंगल में जीने के लिए चालाकी और चपलता जरुरी है , ठीक वैसे हीं दफ्तर में एक कर्मचारी को मजबूत बनना पड़ता है  । दफ्तर  के कायदे कानून एक हिरण को भी भेड़िया बनने को बाध्य कर देते हैं  । लेकिन एक भेड़िया होकर भी कोई धर्मिक रह सकता है क्या ?
Short tale 1.9k views Story completed

एक मेटल की जीवनी

ये कहानी मेरे और मेरे बेटे आप्तकाम के वार्ता पर आधारित है जहाँ पर मैंने अपने बेटे को जग्गी वासुदेव के आत्म साक्षात्कार के  अनुभूति को समझाने का प्रयास किया था।
Short tale 2.0k views Story completed

मर्ज एक औरत का

जब मर्ज झूठा हो तो उसका इलाज सच्चा कैसे हो सकता है? मानव मस्तिष्क के मनोविज्ञान पर प्रकाश डालती हुई कहानी।
Short tale 1.7k views Story completed

वो सिगरेट पीती लड़की

धूम्रपान करने वाली लड़कियों और स्त्रियों को प्रशंसा की नजर से देखने को नही कहता। परंतु इन्हें हिक़ारत की नजर से देखना कहाँ तक उचित है?
Short tale 2.0k views Story completed

गलत कौन

सवाल ये नहीं है कि गौतम बुद्ध के द्वारा सुझाये गए सत्य और अहिंसा के सिद्धांत सही है या गलत। सवाल ये है कि क्या आप उनको पालन करने के लिए सक्षम है या नहीं?
Short tale 976 views Story completed

बीमारी का भय (Fear Of Disease)

Non Verified story मेरे जीजा जी जिनका नाम वृंदावन था । उनका जन्म मकुन्दा नामक गाँव में हुआ था । उनके पिता विजय जी बी. सी.सी.एल में कार्यरत थे । वृंदावन के तीन बहनें और एक बड़ा भाई था। वृंदावन की शादी एक अर्चना नामक लड़की से हुई। लगभग एक या डेढ़ वर्ष के बाद उनका एक पुत्र हुआ। जीवन अच्छे से, चल रहा था। कुछ वर्ष बीत गए कोरोना का दौर आया। कुछ साल बाद अर्चना ने दूसरे पुत्र को जन्म दिय…
1 chapter 100 views Story completed
Blog Story

लक्कड़बग्घा (Hyena)

Non Verified story एक व्यक्ति जिसकी उम्र लगभग 70 वर्ष के आसपास थी। उसके बाल, दाढ़ी, मुँछ सफेद हो चुके थे। उसका शरीर कमजोर हो चुका था। कुछ दिनों बाद वे खटियाँ से उठने में असमर्थ हो गये। वे अब खटियाँ पर ही लेटे रहते। उस व्यक्ति ने सोचा अब मेरी मृत्यु नजदीक है। उसने अपने बच्चों को बुलाया । उस
1 chapter 194 views Story completed
Blog Story

जोरदार हवा (Strong Wind)

Non Verified story एक लड़‌का जिसका नाम देवाशीष था। जब देवाशीष छोटा था । तब उसकी माता बीमारी के कारण मृत्यु को प्राप्त हो गयी थी । उसकी दादी ने उनका पालन पोषण किया। सौलह वर्ष की उम्र में जब उन्होंने मैट्रिक की परीक्षा दी। तब वह परीक्षा में उत्तीर्ण न हो सका । वह काफी उदास हो गया । वह 9वीं पास था। उनकी दादी मन्दिर में पूजा पाठ करती थी। इसी से उनका घर चलता था । परंतु अब उनकी दादी क…
1 chapter 328 views Story completed
Blog Story

जंगल में ढोल नगाड़े (Drums In The Forest)

Non Verified story एक व्यक्ति जिसका नाम अनाथ था। अनाथ कोयले बेचने का कार्य करता था। उनका पुरा परिवार अनाथ पर निर्भर थे । कोयले बेचकर जो रुपये आते उन्हीं से उनका घर चलता था। एक दिन अनाथ कोयला लाने के लिए खाधान की ओर गया। गर्मी का मौसम था। कड़ी धूप थी । हर जगह गर्म हवाएँ चल रही थी।
1 chapter 418 views Story completed
Blog Story

मां की ममता (Mother's Love)

Non Verified story एक महिला जिसकी शादी नेषू नामक व्यक्ति से हुई थी । कुछ सालों बाद उस महिला के दो पुत्र हुए। महिला अपने पुत्रों को पालती,खाना खिलाती, उनके साथ खेल खेलती। नेषू एक दुकान चलाते थे । उनके पूरे परिवार की रोजी रोटी दुकान पर निर्भर थी। उनका दुकान साईकिल रिपेयर का था। दिन अच्छा चल रहा था। उनके पुत्र लगभग आठ-नौ साल के हो गये थे। उनके पुत्र चौथी कक्षा में पढ़ते थे ।
1 chapter 492 views Story completed
Blog Story

बाघ का भय (Fear Of Tiger)

Non Verified story एक लड़की जिसका नाम सुखनी था । उसका जन्म भारत देश के एक छोटे गाँव मकुन्दा नामक गाँव में हुआ था। उसके छ: भाई और दो बहनें थी। उसके पिता बी०सी०सी०एल० में कार्यरत थे। सुखनी देवी की शादी सुभाष नामक व्यक्ति से हुई। अब सुखनी देवी आगद्वारा नामक गाँव में चली गई। एक दिन सुखनी देवी मल त्याग के लिए एक तालाब की ओर जाने लगी ।
1 chapter 554 views Story completed
Blog Story

कपूर का प्रभाव (Effect Of Camphor)

Non Verified story मेरे पिताजी जिनका नाम शंकर था। उनका जन्म भारत देश के एक छोटे से गाँव चन्दाहा मे हुआ था। शंकर जी के पिताजी विजय जी बी. सी.सी.एल में कार्यरत थे। शंकर जी जब बारह वर्ष के थे। विजय जी नशे में धुत होकर आते और शंकर जी के माताजी सुमु देवी को काफी मारते-पीटते। यह देखकर शंकर जी उदास हो जाते थे।
1 chapter 551 views Story completed
Blog Story

Espelhos Sombrios: A Ascensão das Trevas

Non Verified story Sinopse: A continuação de "Espelhos Sombrios" mergulha mais fundo nos segredos dos mundos paralelos, enquanto Lucas e Sofia enfrentam uma nova ameaça sobrenatural. Com capítulos eletrizantes, a história os leva a um jogo mortal contra as trevas, onde suas vidas e a existência de ambos os universos estão em jogo.
Short tale 3.1k views Story completed

Love VS Attraction (Hindi Version)

Non Verified story प्रेम और आकर्षण
Short tale 2.6k views Story completed

Om Shum Shukraya Namah - Shukra Dev Ka Mantra - Beej Mantra

Non Verified story Om Shum Shukraya Namah - Shukra Dev Ka Mantra - Beej Mantra - Get Love Back Astrologer - Get Love Back Astrologer in Hindi
1 chapter 2.6k views Story completed
Blog Story

गदा हनुमान जी की

Non Verified story हनुमान जी का चरित्र आम जन मानस में एक प्रभु श्री राम भक्त, ज्ञानी और अति शक्तिशाली योद्धा के रूप में व्याप्त है। उन्हें पूज्यनीय ऐसे हीं नहीं माना जाता है। एक शक्तिशाली योद्धा के रूप में उनके पास हथियार की परिकल्पना करना कोई अतिशयोक्ति नहीं हैं।जाहिर सी बात है जब बात उनके पराक्रम को करनी हो तो उनके महान शक्तिशाली गदा को कोई कैसे भूल सकता है। लगभग हरेक कथाओं में…
Short tale 1.4k views Story completed

दूसरी सुर्पनखा:राक्षसी अधोमुखी

Non Verified story लक्ष्मण जी द्वारा राक्षसी सुर्पनखा के नाक और कान काटने की घटना सर्वविदित है। वाल्मिकी रामायण में एक और राक्षसी का वर्णन किया गया है जिसके नाक और कान लक्ष्मण जी ने सुर्पनखा की तरह हीं काटे थे। परंतु दोनों घटनाओं में काफी कुछ समानताएं होते हुए भी काफी कुछ असमानताएं भी हैं। लक्ष्मण जी द्वारा सुर्पनखा और इस राक्षसी के नाक और कान काटने का वर्णन वाल्मिकी रामायण के आरण्यक…
Short tale 1.1k views Story completed

एकलव्य:महाभारत का महाउपेक्षित महायोद्धा

Non Verified story #एकलव्य #महाभारत #श्रीकृष्ण #कर्ण #जरासंध #शिशुपाल #परशुराम #भीष्मपितामह #द्रोणाचार्य #अर्जुन #पौराणिक एकलव्य :महाभारत का महाउपेक्षित महायोद्धा महाभारत में अर्जुन , भीम , भीष्म पितामह , गुरु द्रोणाचार्य , कर्ण , जरासंध , शिशुपाल अश्वत्थामा आदि पराक्रमी योद्धाओं के पराक्रम के बारे में अक्सर चर्चा होती रहती है। किसी भी साधारण पुरुष के बारे में पूछें तो इनके बारे में ठ…
Short tale 1.2k views Story completed

रावण,परशुराम और सीता स्वयंवर

Non Verified story सीताजी की स्वयंवर में अनगिनत राजाओं , महाराजाओ की उपस्थिती के बारे में अनगिनत कहानियाँ प्रचलित है । ऐसा माना जाता है , शिवजी का भक्त होते के नाते रावण भी सीताजी की स्वयंवर में आया था। ये बात भी प्रचलित है कि शिवजी के धनुष के टूटने के बाद भगवान श्री परशुराम सीताजी के स्वयंवर स्थल पर आये थे तथा उनका लक्ष्मण जी के साथ वाद विवाद हुआ था। इन बातों में कहाँ तक स…
Short tale 1.1k views Story completed

चंद्रगुप्त की जुबानी , भगवान श्रीकृष्ण की कहानी

Non Verified story जिस प्रकार भारतीय धर्मग्रंथों को ऐतिहासिक रूप से प्रमाणिक नहीं माना जाता रहा है ठीक उसी प्रकार इन धर्मग्रंथों में दिखाए गए महान व्यक्तित्व भी। इसका कुल कारण ये है कि इन धर्मग्रंथों को कभी भी पश्चिमी इतिहासकारों के तर्ज पर समय के सापेक्ष तथ्यात्मक रूप से प्रस्तुत नहीं किया गया। लेकिन क्या इसका मतलब ये हैं कि हम अपने पौराणिक महानायकों को मिथक की श्रेणी में रखकर इनकी…
Short tale 1.1k views Story completed